Indian Railways : अब ट्रेन में जब चाहे तब करवा सकते हैं टिकट, सीट वैटिंग की समस्या होगी खत्म, मजदूर ग्रुप के लिए चलेगी ये स्पेशल ट्रैन

भारत में ट्रेनों का अधिक प्रयोग नवीनतम वर्ग के मजदूर ग्रुप एक जगह से दूसरी जगह आने जाने में करते हैं, परंतु न्यूनतम वर्ग और लोग कैटेगरी के मजदूरों को ट्रेन में सफर करने के लिए लंबी वेटिंग जैसी समस्याओं से गुजरना पड़ता था , परंतु अब रेलवे भारत के मजदूरों को लंबी वेटिंग से गुजर ना ना पड़े और भीड़ भाड़ वाली ट्रेनों में सफर ना करना पड़े इसके लिए एक नई ट्रेन की शुरुआत करने की विचार कर रहा है ।

जी हां ! आपको बता दें कि मजदूरों और लो इनकम ग्रुप को पैसे कमाने के लिए एक जगह से दूसरी जगह मजदूरी करने के लिए जाना पड़ता था और इस समस्या में उन्हें लंबी ट्रेन वेटिंग से जूझना पड़ता था परंतु अब रेलवे ने मजदूरों के लिए माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन चलाने की प्लानिंग कर ली है ।

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन :-

जल्द ही एक जगह से दूसरी जगह यात्रा करने वाले मजदूरों को जल्द ही माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन , ट्रेन रूट पर चलती हुई दिखाई देगी, यह ट्रेन मुख्य रूप से लो कैटेगरी के मजदूरों के लिए शुरू की जा रही है , इन ट्रेनों में केवल स्लीपर और जनरल कोच होगा, यह माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन सालों भर चलेगी और इसमें बुकिंग कराना भी आसान होगा और लंबी वेटिंग की परेशानी भी खत्म हो जाएगी ।

 

रेलवे की रिपोर्ट में हुआ था खुलासा :-

हाल ही में रेलवे की ओर से Migrant Workers Special Train पर एक स्टडी करवाई थी स्टडी के अनुसार पता चला कि लो इनकम ग्रुप के लोगों को काम धंधे के सिलसिले में एक राज्य से दूसरे राज्य जाने में लंबी वेटिंग का सामना करना पड़ता है परंतु जब भी त्योहार का सीजन चलता है तो ऐसे में मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाई जाती है परंतु आम दिनों में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं होती है, जिसके चलते आम दिनों में ट्रेनों में भीड़ भाड़ की काफी अधिक समस्या देखने को मिलती है ।

 

जल्द चलेगी Migrant Workers Special Train :- 

आम दिनों में लो कैटेगरी के मजदूरों को कामकाज के सिलसिले में एक राज्य से दूसरे राज्य जाने में ट्रेन में लंबी वेटिंग और भीड़-भाड़ की समस्या को देखते हुए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है और Migrant Workers Special Train चलाने का फैसला कर दिया है,

यह एक नॉन-एसी ट्रेन होगी इसमें केवल जनरल और स्लीपर कोच होंगे एवं न्यूनतम कोच की संख्या 22 और अधिकतम कोच की संख्या 26 होगी । फिलहाल अभी रेलवे की ओर से इन ट्रेनों के नाम की घोषणा नहीं की गई है परंतु जल्द ही इस मामले में घोषणा कर दी जाएगी और उम्मीद जताई जा सकती है कि इन ट्रेनों का संचालन जनवरी 2024 से शुरू किया जा सकता है ।

 

इन राज्यों में दिख सकती है Migrant Workers Special Train 

रेलवे की ओर से माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन शुरू करने से पहले उन राज्यों की अधिक पहचान की जा रही है जहां पर लो कैटेगरी के मजदूरों का काम धंधे के लिए एक राज्य से दूसरे राज्य में आने-जाने का रुझान रहता है ,

रेलवे की रिपोर्ट ने बताया कि काम धंधे में एक से दूसरे राज्य में आने-जाने का रुझान रखने वाले राज्यों में चेन्नई आसाम उड़ीसा तमिलनाडु महाराष्ट्र पंजाब पश्चिम बंगाल गुजरात दिल्ली बिहार और झारखंड प्रमुख है , वहीं रेलवे अधिकारियों के अनुसार बताया जा रहा है कि माइग्रेंट वर्कर्स स्पेशल ट्रेन जल्द ही लोग कैटेगरी के मजदूरों के लिए शुरू कर दी जाएगी और ट्रेन वेटिंग की समस्या खत्म हो जाएगी , वर्कर्स इस ट्रेन में यात्रा करके काफी सहूलियत से एक स्थान से दूसरे स्थान अपने काम धंधे के लिए आना जाना कर सकते हैं ।

Leave a Comment

Close Visit pukhtakhabar.in

whatsapp script.txt Displaying whatsapp script.txt.