Diesel Subsidy Scheme : किसानों की हुई बल्ले-बल्ले ,अब सरकार देगी सिंचाई के लिए डीजल सब्सिडी तो ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

Bihar Diesel Anudan Yojana : जैसे की हम सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार भी किसानों के लिए कई नई योजनाएं लेकर आते है। और एक बार फिर से बिहार सरकार किसानों को राहत पहुंचाने के लिए डीजल योजना लेकर आई है । इस योजना की मदद से किसानों को काफी फायदा होगा ।

बिहार डीजल अनुदान योजना को बिहार के किसानों के लिए उनकी कृषि क्रिया में सहायता करने के लिए लाया गया है , बिहार डीजल अनुदान योजना के माध्यम से बिहार सरकार किसानों को डीजल पर सब्सिडी देगी ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिहार के वह किसान जो डीजल पंप सेट से खेतों मैं खरीफ की फसल की सिंचाई करते हैं अभी इस योजना से अधिक लाभ होगा , केवल इतना ही नहीं बिहार सरकार ने बिहार डीजल अनुदान योजना के तहत कुछ बदलाव किए इसके अंतर्गत सरकार ने डीजल सब्सिडी को 40 रुपए से बदलकर  50 रुपए कर दी है।

 

किसानों को मिलेगा डीजल सब्सिडी से फायदा

बिहार सरकार के द्वारा बिहार डीजल अनुदान को शुरू करने का मकसद यही था कि बारिश ना होने की वजह से किसान खरीफ फसल की सिंचाई नहीं कर पाते थे , और पूरी फसल नष्ट हो जाती थी इसी कारणवश सरकार ने डीजल सब्सिडी की शुरुआत की है, किसानों को बिना किसी पक्षपात से आसानी से इस योजना का लाभ होगा ।

 

इस प्रकार करें ऑनलाइन आवेदन :-

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आवेदनकर्ता को इनकी ऑफिसर वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in पर जाना होगा ।
  • इसके बाद आपको ऑनलाइन आवेदन का विकल्प नजर आएगा जिसमें आपको डीजल खरीफ अनुदान के विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
  • इसके बाद आपको अनुदान पंजीकरण की प्रक्रिया के अंतर्गत पंजीकरण नंबर डालना होगा ।
  • अब अगर आप इस पोर्टल पर पंजीकृत नहीं है तो आप किसान पंजीकरण कर सकते हैं ।
  • इसके पश्चात आवेदक को स्क्रीन पर पंजीकरण दिशा निर्देश देखने को मिलेंगे ।
  • इसके बाद आवेदकर्ताओं को पंजीकरण करने के लिए अलग-अलग भागों में विभक्त किया जाएगा , जैसे कि- स्वयं ,स्वयं+बटाईदार, बटाईदार ।
  • स्वयं की स्थिति के तहत आपको थाना नंबर ,खसरा नंबर कुल सिंचित रकबा अर्थात खाता नंबर , डीजल रसीद को अपलोड करना होगा
  • स्वयं+बटाईदार की स्थिति में आप को स्वयं का खाता नंबर , थाना नंबर, खसरा नंबर , आसपास के किसानों के नाम अथवा कुल रकबा किसानों और डीजल रसीद अपलोड करनी होगी ।
  • बटाईदार की स्थिति में आप को थाना नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, और आसपास के किसानों के नाम , साथ में रकबा नंबर , और डीजल रसीद को डालना होगा ।
  • इस प्रकार ही आवेदक करने वाले किसान पंजीकरण की पूरी प्रक्रिया को पूर्ण रूप से पूरा कर पाएंगे ‌।

 

ये भी पढ़े :-

Leave a Comment

error: Content is protected !!