COVID Guidelines : कोरोना वायरस ने एक बार फिर से दी दस्तक,स्कूल और कॉलेज में मास्‍क हुआ अनिवार्य, मॉल और सिनेमा में भी जारी किए गए नए निर्देश 

COVID Guidelines : वर्ष 2019 की बात है जब करोना वायरस ने पहली बार  भारत सहित पूरे विश्व में अपनी दस्तक दी थी, जिसके बाद लगातार दो वर्षों तक पूरे विश्व में कोरोना वायरस का कहर मचा हुआ था , सभी लोगों के लिए करोना काल ऐसा हो गया था कि लोगों के जीवन में अंधकार ही छा गया हो इस समय लोगों ने कई प्रकार की परेशानियों को झेला था ना केवल शारीरिक तौर पर बल्कि मानसिक और भावनात्मक रूप से भी इस बीमारी ने कई लोगों को अपनी चपेट में लिया था ।

वही है एक बार फिर से वर्ष 2023 में फिर से कोरोनावायरस ने अपनी दस्तक दे दी है परंतु इस पर बार यह है कि लोग इस बीमारी से लड़ने का तरीका सीख चुके हैं इसलिए सरकार कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ने के लिए नए नए गाइडलाइंस जारी किए जा रहे हैं जिससे  हम सभी मिलकर इस करोना वायरस को हरा सके ‌।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

 

कोरोना वायरस ALERT  

हाल ही में वर्ष 2022 के अंतिम समय से अब तक भारत में कोरोनावायरस के कई केस निकलकर सामने आ रहे हैं और दिन पर दिन यह केस बढ़ते ही जा रहे हैं इन स्थितियों को देखते हुए सरकार ने कोरोनावायरस के खिलाफ सख्त गाइडलाइंस लागू करना एक बार फिर से शुरू कर दिया है ।

 

सरकार द्वारा जारी किए गए सख्त गाइडलाइंस :- 

भारत देश की राजधानी दिल्ली के एनसीआर में लगातार करोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी कर दी है, इस तहत नोएडा के स्कूलों में छात्रों और शिक्षकों को करोड़ों के खिलाफ सख्त गाइडलाइंस का पालन करने का आदेश जारी किया गया है ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि नोएडा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी किए गए एक आदेश के अनुसार कार्यालयों, स्कूलों, कॉलेजों, अस्पतालों, मॉल, सिनेमा हॉल और सार्वजनिक परिवहन जैसे स्थानों पर फेस मार्क्स पहनना अनिवार्य कर दिया गया है , अन्यथा चीफ मेडिकल ऑफिसर सुनील शर्मा ने उत्तर प्रदेश की रिपोर्ट को देखते हुए गौतम बुद्ध नगर के लिए भी सख्त आदेश जारी कर दिए गए हैं ।

 

ये भी पढ़े :-

 

एक बार फिर से  बच्चों को करना होगा उसको सोशल डिस्टेंसिंग का पालन :-

सरकार के द्वारा जारी किए गए गाइडलाइंस के अनुसार अब स्कूल कॉलेज और अन्य शैक्षणिक स्थानों पर बच्चों को सीटों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग पालन करने के कड़े आदेश जारी किए गए हैं , अन्यथा प्रशासन के द्वारा यह सुनिश्चित करवाया जाएगा कि बच्चों के लिए सैनिटाइजर और हाथ साबुन उपलब्ध है या नहीं ।

एक बार फिर से बच्चों को स्कूल में स्कूल में थर्मल स्कैनिंग का सामना करना पड़ेगा , इसके अलावा स्कैनिंग के समय जिन बच्चों को फ्लू , सर्दी बुखार देखने को मिलेगा उन्हें घर वापस भेजने के आदेश जारी किए गए हैं , इसके अलावा सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थानों स्कूल कॉलेज में यह सुनिश्चित करने के आदेश जारी किए हैं कि सभी बच्चों ने बूस्टर डोज की प्रक्रिया पूरी की है कि नहीं ।

 

नोएडा में अधिक देखने को मिल रहे हैं करोना के मामले :- 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ऐसा पता चला है कि मार्च 2023 से करोना के मामले लगातार बढ़ोतरी कर रहे हैं अन्यथा इसमें नोएडा का नाम सबसे ऊपर में है क्योंकि गुरुवार 13 मार्च को नोएडा में करोना के 118 केस , वही गाजियाबाद में 108 केस देखने को मिले हैं । हालांकि गाजियाबाद में स्कूल कॉलेज को लेकर किसी प्रकार की गाइडलाइंस की घोषणा अभी नहीं की गई है ।

अंत में हम आपको बता दें कि 2019 में करोना वायरस नाम की एक बीमारी ने लोगों के जीवन से बहुत कुछ छिना है इसलिए वर्ष 2023 में करोना महामारी से बचने के लिए सरकार द्वारा जारी किए गए प्रोटोकॉल का सख्त पालन करें और ना केवल खुद की सुरक्षा करें बल्कि  करोना से सुरक्षा के लिए दूसरों को भी जागरूक करें

Leave a Comment

error: Content is protected !!